//बगीचे में घुस जाते थे स्कूल के छात्र, गुस्से में स्कूल पर कर दी फायरिंग
Maharawal-School-Dungarpur

बगीचे में घुस जाते थे स्कूल के छात्र, गुस्से में स्कूल पर कर दी फायरिंग

जिले के सबसे बड़े राजकीय महारावल उच्च माध्यमिक विद्यालय में बुधवार को एक युवक ने कक्षाकक्ष को लक्ष्य कर खिडक़ी पर टोपीदार बंदूक से फायर कर दिया। इससे खिडक़ी पर लगे लोहे का दरवाजे पर 27 निशान बन गए। घटना के वक्त क्लास में तीन विद्यार्थी मौजूद थे, जो छर्रे लगने से जख्मी हो गए। पुलिस ने आरोपित को हिरासत में ले लिया है।

firing in school

घटना सुबह 10: 30 बजे की है। उस वक्त प्रार्थना सभा के बाद जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वावधान में विधिक जागरूकता कार्यक्रम चल रहा था। हर कक्षा में दो-तीन बच्चों को छोड़ कर शेष कार्यक्रम में थे। घटना की जानकारी संस्थाप्रधान और अन्य शिक्षकों को मध्याह्न अवकाश में दोपहर दो बजे मिली। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपित फरासवाड़ा निवासी जुमा खान को हिरासत में लिया तथा उसके घर की तलाशी लेकर दो बंदूकें भी बरामद कर ली हैं। फायरिंग से 12वीं कक्षा के छात्र तुषार यादव, हेमेंद्र कोटेड़ व बंशीलाल को मामूली चोटें आई। जानकारी के अनुसार स्कूल के छात्र दीवार फांद कर जुमा खान के निजी बगीचे में घुस जाते थे। जिससे वह गुस्से में था और स्कूल प्रशासन को इस बारे में बता चुका था।

बगीचे से किया फायर

विद्यालय के जिस कक्ष पर फायरिंग हुई, वह पीछे की ओर अंतिम छोर पर है। कमरे के पीछे 10 फीट की दूरी पर जुमा खान का निजी परिसर है। उसमें बगीचा बना रखा है। संभवतया फायर बगीचे की चारदीवारी के पास से किया गया। बताया जा रहा है कि स्कूली बच्चे चारदीवारी फांद कर बगीचे में आ जाते थे। इस वजह से पूर्व में भी पत्थर फेंकने जैसी घटनाएं हो चुकी हैं। विद्यालय प्रशासन और परिसर मालिक के बीच भी चारदीवारी ऊंची कराने को लेकर चर्चाएं हुई हैं। संस्थाप्रधान दीपिका द्विवेदी ने बताया कि राजकीय परिसर होने से स्वीकृति मिलने पर ही निर्माण संभव होना बताकर बगीचे के मालिक को अपना परकोटा ऊंचा कराने के लिए कहा था। हालांकि संबंधित व्यक्ति ने बच्चों की ओर से परेशान किए जाने की कभी लिखित शिकायत नहीं की।

पुलिस अधिकारियों ने किया मुआयना

स्कूल में फायरिंग की खबर मिलते ही पुलिस के भी होश उड़ गए। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रामजीलाल चंदेल, शहर कोतवाल गजेंद्रसिंह मय दल के मौके पर पहुंचे। प्रथम दृष्ट्या एक से अधिक फायर होना बताया जाता रहा। बाद में गहनता से मौका निरीक्षण करने के बाद पुलिस ने टोपीदार बंदूक से एक फायर होने तथा महज 10 फीट की दूरी से फायरिंग होने के कारण 8 इंच के घेरे में छर्रे लगने से 27 निशान बनना बताया।

स्कूल पर फायरिंग का आरोपित पुत्र गिरफ्तार, कुवैत भागने की फिराक में था

मामूली बात पर कक्षाकक्ष को लक्ष्य कर फायरिंग कर सनसनी फैलाने के मामले में फरार आरोपित को पुलिस ने बुधवार देर रात गिरफ्तार कर लिया। जिला पुलिस अधीक्षक शंकरदत्त शर्मा ने बताया कि आरोपित जुमा पुत्र गटू मेवाफरोश का बेटा अमजद वारदात के बाद भाग गया था। जिले भर में नाकाबंदी कराने के साथ ही प्रदेश और पड़ौसी राज्यों के पुलिस थानों को अलर्ट किया था। युवक के छिपने के स्थानों पर दबिश दी। साथ ही परिवारजनों के माध्यम से भी उस पर मनोवैज्ञानिक दबाव बनाने के प्रयास हुए। मुखबिर की सूचना पर देर रात अमजद को गुप्त स्थान से धर दबोचा। शर्मा ने बताया कि युवक पहले कुवैत में रोजगाररत था तथा वारदात के बाद भी कुवैत भागने की फिराक में था।